Latest Posts

अच्छी खबर : यूपी मे पीपीपी माडल के अंदर बनेंगे 83 बस अड्डे, इन जिलों से होगी शुरुवात

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम सभी 75 जिलों में 83 बस अड्डे पीपीपी माडल पर विकसित कराएगा। पहले चरण में 16 जिलों में 24 बस अड्डों का विकास होना है। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने इन बस अड्डों को विकसित करने के लिए चल रही कार्यवाही की समीक्षा की।

मुख्य सचिव ने 75 जिलों के सभी बस स्टेशनों की रूपरेखा तैयार करके सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) माडल पर जल्द से जल्द सुंदरीकरण तथा विकसित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षों में इलेक्ट्रिक बसों की संख्या बढ़ेगी, इसलिए बस स्टेशनों पर अधिक संख्या में चार्जिंग प्वाइंट बनाए जाएं।

इसके साथ ही बस अड्डों पर मानक के अनुसार रैंप बनाए जाएं ताकि यात्रियों को सामान लाने-ले जाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि पहले चरण में 16 जिलों के 24 बस अड्डों का विकास होना है। इनमें गाजियाबाद में तीन, आगरा में तीन, प्रयागराज में दो, लखनऊ में तीन, अयोध्या में दो तथा मथुरा, कानपुर नगर, वाराणसी, मेरठ, अलीगढ़, गोरखपुर, बुलंदशहर, हापुड़, बरेली, रायबरेली व मीरजापुर में एक-एक बस अड्डा शामिल है।

दूसरे चरण में 24 जिलों कासगंज, महोबा, बिजनौर, इटावा, फतेहपुर, श्रावस्ती, अमरोहा, उन्नाव, बलिया, मुरादाबाद, रामपुर, एटा, बलरामपुर, बस्ती, देवरिया, फीरोजाबाद, गोंडा, कन्नौज, पीलीभीत, अंबेडकरनगर, बदायूं, बागपत, मुजफ्फरनगर, संभल के 24 बस अड्डों का कायाकल्प किया जाएगा।

इसके अलावा तीसरे चरण में शेष बचे 35 जिलों के 35 बस अड्डों का विकास होना है। बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से परिवहन निगम के अध्यक्ष राजेंद्र कुमार तिवारी तथा परिवहन, वित्त, आवास एवं शहरी विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

Note : तस्वीर काल्पनिक है।

Latest Posts

Don't Miss