Latest Posts

अब ट्रेन नहीं होगी डिरेल,माउस के द्वारा एक क्लिक पर बदलेंगी ट्रेन की पटरिया, जाने नई तकनीक

कोरोनावायरस का प्रभाव जब से खत्म हुआ है उसके बाद रेलवे लगातार ट्रेनों में आधुनिक सुविधाएं यात्रियों के लिए उपलब्ध करवा रहा है। यात्रियों को आधुनिक सुविधाएं मिलने के साथ साथ कई तरह की नई सुविधाएं दी जा रही है और साथ ही साथ बंद पड़ी सभी ट्रेनों को दोबारा से चलाने की तैयारी भी रेलवे कर रहा है।

रेलवे लगातार आधुनिक तकनीकी अपना रहा है और लोगों को बेहतर सुविधाएं देने पर ध्यान दे रहा है। अक्सर देखा जाता है कि कई बार तकनीकी खराबी होने के कारण ट्रेन डिरेल हो जाती है। लेकिन ट्रेन धीरे ना हो इसके लिए खास तकनीक अपनाई जाएगी और ट्रेनों को धीरे होने से रोकने के लिए रेलवे अब बहुत ही तकनीक अपनाने वाला है।

जूही यार्ड में हत्थे से बदली जाने वाली 16 पटरियां अब माउस के एक क्लिक से बदलेंगीं। गोविंदपुरी और भीमसेन के बीच लगाया गया सिग्नल स्टेशन के रूप में कार्य करेगा। आपको बता दें कि जूही यार्ड में भारतीय रेल की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक इंटरलॉकिंग स्थापित किया गया है जिसके बाद यह संभव हो पाया है कि बस माउस के एक क्लिक से रेलवे की पटेरिया बदल दी जाएगी।

वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक एसके गौतम ने जानकारी दिया कि अब तक हत्थे से जूही यार्ड से लखनऊ, झांसी, मुगलसराय जाने वाली मालगाड़ियों की पटरियां बदली जाती थीं। यह तकनीक अपनाई जाने से ट्रेन डिरेल होने का खतरा खत्म हो जाएगा।

Latest Posts

Don't Miss