Latest Posts

एम्स में इलाज करवाना पड़ेगा महंगा,10 दिन का एडवांस जमा कराना अनिवार्य,जांच के साथ इन सुविधाओं की बढ़ी रेट

आम लोगों को एम्स में इलाज करवाना महंगा पड़ सकता है क्योंकि इसमें जांच के साथ-साथ सभी सुविधाओं के रेट में बढ़ोतरी हो गई हैं।

जैसे ए श्रेणी के लिए 63 हजार व सामान्य श्रेणी के लिए 33 हजार रुपये का का पेमेंट करना होगा। दिल्ली एम्स में बढ़े हुए सभी दामों का असर कुछ समय बाद गोरखपुर एम्स में भी देखने को मिल सकता है। गोरखपुर के लोगों को भी एम्स में इलाज कराना महंगा पड़ सकता है क्योंकि सभी तरह की सुविधाओं की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी गई है।

जिससे यहाँ पूर्वाञ्चल और बिहार के आने वाले मरीजों पर खासा असर देखने को मिलेगा। बता दे गोरखपुर एम्स में पूर्वांचल के साथ-साथ बिहार और नेपाल के बीमारी जाते हैं। उन सब पर इसका असर देखने को मिल सकता है।

AIMS में महंगाई से क्या होगा असर-

दिल्ली स्थित देश के सबसे प्रतिष्ठित अस्पताल एम्स में अब इतना ज्यादा महंगा हो गया है। इसके पीछे वर्किंग कैपेसिटी और मेंटीनेंस को जिम्मेदार बताया जा रहा है। बता दें कि आधिकारिक तौर पर इस मामले में सिर्फ एक प्रेस नोट भेजा गया है। प्रेस नोट में अलग-अलग सुविधाओं पर चार्जर बढ़ा दिया गया है और इसके लिए एक लिस्ट जारी करके भेज दी गई है।

एम्स प्रशासन ने निजी वार्ड में कमरे व डाइट का चार्ज बढ़ा दिया है। अब ए श्रेणी के डीलक्स रूम के लिए छह हजार व सामान्य कमरे के लिए तीन हजार रुपये देने होंगे।

इस संबंध में एम्स की ओर से गुरुवार को अधिसूचना जारी कर दी गई है। एम्स के मुताबिक, डाइट के लिए मरीजों को प्रतिदिन 300 रुपये का भुगतान करना होगा। वहीं, कमरों के लिए मरीजों को 10 दिन का एडवांस में भुगतान करना है।

इसके तहत ए श्रेणी के लिए 63 हजार व सामान्य श्रेणी के लिए 33 हजार रुपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। नए चार्ज आगामी एक जून से लागू कर दिए जाएंगे। वहीं, एम्स में जांच के लिए लैबोरेटरी में लगने वाले 300 रुपये के चार्ज को हटाने की बात कही गई है।

 

Latest Posts

Don't Miss