Latest Posts

कलयुग का श्रवण कुमार:अपने मां-बाप को कंधे पर उठाकर 180 किलोमीटर का सफर तय करेगा यह बेटा,पूरी करेगा मां-बाप के सपने

महादेव का पावन पर्व सावन शुरू हो गया है और सावन में 2 साल के बाद इस साल कावड़ यात्रा भी शुरू हुई है। हरिद्वार से कांवरियों का रेला शिवालय की ओर लगातार बढ़ रहा है। देखा जा रहा है कि कोई देश भक्ति के रंग में रंग गया है तो वहीं दूसरी तरफ किसी के कंधे पर मां-बाप या भाई हैं।

बुलंदशहर के विजय गुर्जर अपनी बुजुर्ग मां और दिव्यांग भाई को लेकर कांवड़ यात्रा पर निकले हैं।

वहीं श्रवण कुमार की तरह दोनों को तीर्थ की यात्रा कराकर वापस लौट रहे विजय मुजफ्फरनगर पहुंचे तो उन्हें देखने वालों की भीड़ गई। आपको बता दें कि हरिद्वार में गंगा जल लेकर शुरू हुई यात्रा बुलंदशहर के गांव शेरपुर के शिवालयों में जलाभिषेक करने के साथ पूरी होगी।

विजय गुर्जर और उसके दोस्त प्रवीण का कहना है कि उनकी यह दूसरी कांवड़ यात्रा है। बेहद खुशी हो रही है। मां जगवती देवी कहती है कि ऐसा बेटा सबको मिले। लोग उनको देखकर कह रहे हैं कि यह कलयुग के सरवन कुमार है और अपने मां-बाप के सपने को पूरा करने के लिए वह अपने मां-बाप को कांवड़ में बिठा के शिवालय ले जा रहे हैं।

बता दे कि उनको देखने के लिए वह जिस जिस रास्ते से गुजर रहे हैं भीड़ लग जा रही है। लोग उनको देखने के लिए भीड़ लगा दे रहे हैं और कह रहे हैं कि ऐसा बेटा हर किसी को भगवान दे। वह अपने मां-बाप के सपने पूरा करने के लिए यह बड़ा कदम उठाए हैं और हरिद्वार से अपने मां-बाप को कंधे पर उठाकर कावड़ यात्रा करा रहे हैं।

Latest Posts

Don't Miss