Latest Posts

जाने भारत के इन जगहों के बारे में,जहां भारतीयों के जाने पर है रोक,केवल विदेशियों को दी जाती है एंट्री

आपको कोई अगर यह कहे कि भारत में कुछ ऐसी जगह है जहां पर भारतीयों का जाना बैन है, लेकिन वहां विदेशियों का स्वागत किया जाता है. तो यह खबर आपको थोड़ी अटपटी लगेगी. लेकिन आपको बता दें कि आप बिल्कुल सच खबर है. आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे जगहों के बारे में बताने वाले हैं जहां भारतीयों का जाना बैन है लेकिन वहां विदेशी जा सकते हैं.

गोवा का ओन्ली फॉरेनर्स बीच

गोवा के अधिकतर लोग पर्यटन पर ही निर्भर करते हैं. यहां पर बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक आते हैं. गोवा में कई ऐसे समुद्री बीच है जहां सिर्फ पर्यटकों को ही एंट्री मिलती है. यहां पर भारतीयों को एंट्री नहीं दी जाती है.

अंडमान-निकोबार का नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड

अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के एक द्वीप नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड में सिर्फ आदिवासी निवास करते हैं. इस बीच में बाहरी दुनिया से किसी भी तरह का संपर्क नहीं है. इस द्वीप पर बाहर से आए हुए किसी भी व्यक्ति का जाना वर्जित है.

हिमाचल प्रदेश में कसोल का फ्री कैफे

हिमाचल प्रदेश में एक ऐसा कैसे बना है जहां भारतीय लोगों का जाना मना है लेकिन यहां विदेशी जा सकते हैं. इस कैसे का नाम है कसोल कैफे. इस कैफ़े में इजराइली लोग खाना सब करते हैं और इजराइली लोग ही इस कैफे को चलाते हैं. यहां पर भारतीयों का जाना मना है लेकिन विदेशियों का जाना अलाउड है। कई बार इस बात पर विवाद हो चुका है.

चेन्नई का रेड लॉलीपॉप हॉस्टल

चेन्नई में रेड लॉलीपॉप हॉस्टल में केवल विदेशी पर्यटकों को एंट्री दी जाती है. इस होटल के प्रबंधकों का कहना है कि हम पहली बार भारत आए लोगों को अपने रहने का अनुमति देते हैं. यहां भारतीयों का जाना मना है.

बेंगलुरु का यूनो-इन-होटल

बेंगलुरु शहर में बने यूनो-इन नाम के एक होटल में भी भारतीय लोगों के जाने पर रोक थी. इस होटल में केवल जापान के लोग ही जा सकते थे. बाद में इस पर नस्लीय भेदभाव का आरोप लगा और इसे 2 साल के लिए बंद कर दिया गया.

Latest Posts

Don't Miss