Latest Posts

फिर से लागू हो सकती है पुरानी पेंशन व्यवस्था,सरकार ले सकती है यह बड़ा फैसला,जाने ताजा अपडेट

शुक्रवार के दिन पुराने पेंशन व्यवस्था के पुनः बहाली को लेकर सवाल विधान परिषद में उठाया गया। आपको बता दें कि काफी लंबे समय से कर्मचारी पुरानी पेंशन व्यवस्था को बहाल करने की मांग कर रहे हैं। आपको बता दें कि शुक्रवार के दिन रायबहादुर चंदेल ने विधान परिषद में पुरानी पेंशन व्यवस्था को पुनः लागू करने की बात को विधान परिषद में उठाएं।

उन्होंने कहा कि प्रबंध की हीला हवाली से देर हुई इसलिए शिक्षक को पेंशन मिलनी चाहिए। इस पर माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार गुलाब देवी ने इस ओर काम करने के निर्देश दिए हैं।

चुनाव से पहले हो सकता है फैसला-

उत्तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के बाद एक बार फिर से सदन में पुरानी पेंशन व्यवस्था का मुद्दा गरमाया है और लोग लगातार पुरानी पेंशन व्यवस्था को एक बार फिर से लागू करने की मांग कर रहे हैं।

इससे पहले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने पुरानी पेंशन को बहाल करने का वादा किया था। हालांकि, समाजवादी पार्टी सरकार नहीं बना पाई। जिसके बाद से भाजपा सरकार के लिए पुरानी पेंशन बड़ा मुद्दा बना हुआ है।

आपको बता दें कि सरकार के द्वारा पुरानी पेंशन व्यवस्था के सहारे एक बार फिर से लोगों को साधने और इसका सहारा लेकर वोट बैंक बनाने की कोशिश की जा सकती है।

आने वाले दिनों में लोकसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी की सरकार पुरानी पेंशन को लेकर कोई अहम फैसला ले सकती है।

ये मुद्दे भी उठाएं गए-

कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सपा विधायक डॉक्टर मान सिंह यादव के सवाल के जवाब पर नेता सदन स्वतंत्र देव सिंह ने जवाब दिया है कि वर्ष 2021 में उत्तर प्रदेश में कुल 357905 आपराधिक मुकदमे दर्ज हुए। मान सिंह यादव ने प्रयागराज की 12 घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि इसकी जानकारी सरकार को है या नहीं जिस पर सरकार ने आश्वासन दिया कि इस मामले में पूरी सूचना उपलब्ध कराई जाएगी।

आपको बता दें कि काफी लंबे समय से पुरानी पेंशन व्यवस्था को एक बार फिर से लागू करने की मांग की जा रही है लेकिन सरकार ने अभी तक इस मुद्दे पर किसी भी तरह का जवाब नहीं दिया है और चुप्पी साध रखी है।

Latest Posts

Don't Miss