Latest Posts

बच्चे के समान होते हैं देवता, पूजा-पाठ रोगभोग आरती जरूरी, ज्ञानवापी पर अविमुक्तेश्वरानंद की ओर से कोर्ट में दलील

वाराणसी की ज्ञानवापी के मामले पर सिविल जज सीनियर डिवीजन अश्वनी कुमार की कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। ज्ञानवापी परिसर में मिले शिवलिंग जैसी आकृति के पूजा पाठ रागभोग आरती करने की मांग की गई। कोर्ट ने मामले में अगली सुनवाई के लिए 23 जनवरी की तिथि नियत की। कोर्ट ने इस तारीख पर प्रशासन की ओर से आपत्ति दाखिल करने और पक्षकारों को उपस्थिति रहने का निर्देश दिया।

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद व रामसजीवन की ओर दाखिल वाद में यह मांग की गई है कि कोर्ट कमीशन की कार्यवाही में मिले शिवलिंग जैसी आकृति का विधिवत राग-भोग, पूजन व आरती जिला प्रशासन की ओर से करना चाहिए था लेकिन अब तक ऐसा नहीं किया गया। न किसी अन्य सनातनी धर्म से जुड़े व्यक्ति को इसके सम्बंध में नियुक्त किया।

वादी के अधिक्तागण अरुण कुमार त्रिपाठी, रमेश उपाध्याय, चंद्रशेखर सेठ ने दलील दी कि कानूनन देवता एक जीवित बच्चे के समान होते हैं। उन्हें अन्न-जल आदि नहीं देना संविधान की धारा अनुच्छेद-21 का उल्लंघन है। उधर, प्रतिवादी अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से प्रार्थना पत्र दिया गया था कि वादी का याचिका में सुबूत नहीं है। इसकी सुनवाई का औचित्य नहीं है। इस अर्जी पर सुनवाई चल रही है।   

पोषणीयता के खिलाफ निगरानी याचिका पर सुनवाई चार जनवरी को

वाराणसी। ज्ञानवापी प्रकरण में पोषणीयता के खिलाफ निगरानी याचिका पर बुधवार को जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश की कोर्ट ने सुनवाई के बाद चार जनवरी की तारीख नियत की है। इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने पिछले दिनों लोअर कोर्ट के आदेश के खिलाफ सत्र न्यायालय में निगरानी अर्जी दाखिल की थी। आरोप है कि भगवान आदि विश्वेश्वर की ओर से विश्व वैदिक सनातन संघ की अतंरराष्ट्रीय महामंत्री किरन सिंह की दाखिल याचिका पोषणीय योग्य नहीं है। 

केस स्थानांतरण की सुनवाई अब सात को

वाराणसी। ज्ञानवापी आदि विशेश्वर मामले में लोअर कोर्ट में लंबित केस को जिला जज की अदालत में स्थानांतरित करने की अर्जी पर बुधवार को सुनवाई हुई। मामले मे जिला जज ने इसकी अगली तारीख सात जनवरी नियत की। 

वुजूखाने संबंधी मामले में सुनवाई आज

वाराणसी। एसीजेएम पंचम एमपी एमएलए उज्जवल उपाध्याय की कोर्ट में गुरुवार को ज्ञानवापी में वुजूखाने के पास मिले कथित शिवलिंग के पास गंदगी फैलाने और धार्मिक भावनाओ को भड़काने वाले बयान पर केस दर्ज करने की मांग पर सुनवाई है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव, असदुद्दीन ओवैसी समेत अन्य पर केस दर्ज करने की अर्जी पर सुनवाई होनी है। यह वाद अधिवक्ता हरिशंकर पांडेय की तरफ से दाखिल किया गया है।

आज छह मामलों में सुनवाई

वाराणसी। सिविल जज सीनियर डिवीजन अश्वनी कुमार की अदालत में गुरुवार को ज्ञानवापी प्रकरण से जुड़े छह अन्य मामलो में भी सुनवाई होगी। इसमें लखनऊ के सत्यम त्रिपाठी, आशीष कुमार शुक्ला, वाराणसी के पवन कुमार पाठक, भक्त रंजना अग्निहोत्री और भगवान आदिविश्वेश्वर, साध्वी पूर्णंबा, आदिविश्वेश्वर ज्योतिर्लिंग और नंदीजी महाराज की अर्जी पर सुनवाई होगी।

Latest Posts

Don't Miss