Latest Posts

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर ड्राइवर को आई झपकी तो झकझोर कर जगा देगा एक्सप्रेस-वे,जानिए इसकी खासियत

उत्तर प्रदेश सबसे अधिक एक्सप्रेसवे वाला राज्य बनने वाला है। आने वाले 16 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा उत्तर प्रदेश को एक नए एक्सप्रेस में यानी बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की सौगात दी जाएगी।

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि हाईवे और एक्सप्रेस वे पर तमाम ड्राइवर होते हैं जो कि आने पर हादसे के शिकार हो जाते हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर हादसों से बचने के लिए विशेष तरह के प्रयत्न किए जाएंगे।

296 किमी का यह एक्सप्रेस-वे ड्राइवर को नींद आने पर खुद ही जगा देगा। 120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार के लिए बनकर तैयार इस सड़क के किनारों पर रेज्ड रिब लगाई गई हैं।

इस एक्सप्रेस वे पर अगर नींद के झोंके में गाड़ी बहक जाती है तो टायर दाएं या बाएं और रेस्ट रिम पर चलेंगे। यह रिब गाड़ी को झकझोर देंगी और ड्राइवर जाग जाएगा।

देश में पहली बार यह प्रयोग-

देश में पहली बार किसी सड़क पर रेज्ड रिब लगाए गए हैं। यह 12 इंच चौड़ाई की थर्मोप्लास्टिक की पट्टी है, जिसे 50-50 सेंटीमीटर दूरी पर रोड मार्किंग के ऊपर लगाया गया है। आपको बता दें कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की रिजद रिब 8 मिमी मोटी है

यानी अगर वाहन बहका तो वह 11 मिमी की पट्टी पर चढ़ेगा। रेज्ड रिब की वजह से गाड़ी में कंपन होगा। इससे ड्राइवर की झपकी टूट जाएगी। एक्सप्रेस वे पर हादसे की संभावना न के बराबर है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य होने से उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड का विकास होगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर बुंदेलखंडी वीरों का इतिहास भी दिखाया जाएगा जिससे लोग इसके इतिहास से रूबरू होंगे।

Latest Posts

Don't Miss