Latest Posts

यूपी के इन शहरों से हावड़ा जाने के लिए चलेगी वंदेभारत एक्सप्रेस, इन स्टेशनों से होगा शुरुवात

वाराणसी को एक और सेमी हाईस्पीड वंदेभारत एक्सप्रेस ट्रेन की सौगात मिलेगी। देशभर में 75 रेलवे स्टेशनों पर आवंटित होने वाले वंदेभारत एक्सप्रेस में एक पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल का बनारस डिपो भी है। सूत्रों के अनुसार अभी इसका प्रस्तावित रूट हावड़ा है। इस रूट पर वाराणसी से कोई तेज गति की ट्रेन नहीं है। संभावना है कि अगले माह या अक्तूबर तक ट्रेन का आवंटन हो जाए।

ट्रेन के प्राइमरी मेंटेनेंस के लिए बनारस स्टेशन के कोचिंग डिपो में वाशिंग पिट में तकनीकी कार्य कराए जा रहे हैं। पूर्व के दो वाशिंग पिट कैम-टेक तकनीक पर बने हैं, अब तीसरे को भी इस तकनीक पर बनाया जा रहा है। बनारस डिपो में कैम-टेक तकनीक से बन रहे वाशिंग पिट में एलएचबी रैक और वंदेभारत के रैक की प्राइमरी मेंटीनेंस हो सकेगी।

डीडीयू के बाद कोलकाता तक 130 की स्पीड वर्तमान में डीडीयू जंक्शन से कोलकाता के बीच रेलवे ट्रैक की औसत गति क्षमता 130 किमी प्रति घंटे है। ऐसे में वंदेभारत के लिए यह रूट सही होगा। केवल वाराणसी से डीडीयू के बीच औसतन 1 घंटे 10 मिनट के समय को कम करना होगा। इसके लिए ट्रैक की गति बढ़ाई जा रही है। स्लीपर सुविधा वाली होगी वंदेभारत नई वंदेभारत में बैठ कर यात्रा के बजाय शयनयान श्रेणी के कोच भी होंगे। इससे लंबी दूरी की यात्रा सुविधाजनक होगी।

कैंट पर वाशिंग पिट में बदलाव की तैयारी

कैंट रेलवे स्टेशन पर वाशिंग पिट में नई तकनीक के बदलाव से संभावना है कि यहां एक और वंदेभारत का आवंटन हो सकता है, जो मुंबई, गुजरात या मध्य प्रदेश रूट पर चल सकती है।

क्या है कैम-टेक तकनीक

कैम-टेक तकनीक के वाशिंग पिट में ट्रेन को लाने के बाद बीच में एक समान जगह होती है। बीच के अलावा किनारे-किनारे भी जगह दी गई है, जिससे कि ट्रेन का बेहतर मेंटीनेंस हो सके।

Latest Posts

Don't Miss