Latest Posts

यूपी के इस जिले मे 10 हज़ार करोड़ की लागत से बनेगी 93 किमी लंबी सड़क

कानपुर की 50 लाख की आबादी को विकास की राह प्रदान करने में बहुप्रतीक्षित 2 प्रमुख कार्ययोजना को मूर्त रूप देने का रास्ता साफ़ होता नजर आ रहा है. कानपुर की जनता को अब जाम से जल्द ही निजात मिलेगा. 10 हजार करोड़ की लागत से तैयार 93 किमी लम्बी आउटर रिंग रोड व गोल चौराहे से रामादेवी तक बनने वाले एलीवेटेड जीटी रोड का निर्माण होगा.

कानपुर सांसद सत्यदेव पचौरी ने इन दोनों प्रमुख योजनाओ में संबंधित विभागीय अधिकारियों द्वारा बरती जा रही हीला-हवाली के चलते हुये विलम्ब को लेकर सितम्बर में परिवहन एवं राज्य मार्ग मंत्री को पत्र भेजा था जिसे संज्ञान में लेते हुये परिवहन एवं राज्यमार्ग मंत्री गडकरी ने सांसद के प्रस्ताव को जिलाधिकारी को आदेश देते हुए विभाग को निर्देशित करने के लिए कहा.

जीटी रोड का चौड़ीकरण समाधान नहीं

कार्ययोजना को लेकर विभाग के अधिकारियों से हुई वार्तालाप में उन्होंने कहा कि अनवरगंज से मंधना तक की प्रस्तावित एलीवेटेड रेलवे लाइन अभी विचाराधीन है. इस पर मंत्री ने कहा की रेलवे अपना काम करेगा, आप अपना काम कीजिये. उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि जीटी रोड का चौड़ीकरण इस समस्या का समाधान नहीं. समाधान केवल नागपुर की तर्ज पर कानपुर में भी (गोल चौराहे से लेकर रामदेवी तक ) ऐलीवेटेड जीटी रोड को हर हाल में 2022 के वर्षांत तक उक्त कार्य योजनाओं की डीपीआर बनवाकर मंत्रालय को शीघ्र भेजें. ताकि वित्तीय वर्ष 2023 के शुरुआत तक योजनाओं का शुभारंम्भ हो सके. इसके लिये उन्होंने ने रीजनल ऑफिसर लखनऊ ए. के. जैन को भी निर्देशित भी किया है.

10 हजार करोड़ की लागत से बनेगा मार्ग

10 हजार करोड़ से जल्द ही शुरू होने वाली 93 किलोमीटर लंबी रिंग रोड का निर्माण मंधना से शुरू होना है. यह रोड सचेंडी, रमईपुर , साढ़ के समीप होते हुए रूमा, आटा के रास्ते मंधना में आकर शुभारंभ स्थल से जुड़नी है. इसका सबसे कम चार किलोमीटर का हिस्सा कानपुर देहात में पड़ेगा, जबकि सबसे ज्यादा लंबाई कानपुर नगर में 62 किलोमीटर है. उन्नाव में इसकी लंबाई 27 किलोमीटर है.

Latest Posts

Don't Miss