Latest Posts

यूपी के इस शहर मे बनेगा वंदेभारत और तेजस सहित सेमी हाईस्पीड ट्रेनों का मेंटेनेंस हब

रेलवे जल्द ही लखनऊ को मिशन रफ्तार के रेल नेटवर्क से जोड़ेगा। लखनऊ से भी वंदे भारत एक्सप्रेस जैसी सेमी हाईस्पीड ट्रेनें चल सकेंगी। इसके लिए उनके मेंटनेंस की बाधा भी दूर की जाएगी। मल्हौर में रेलवे अब मेमू शेड की जगह मिशन रफ्तार का मेंटनेंस शेड बनाएगा। जहां आधुनिक मशीनों को मंगवाया जाएगा। जिससे वंदे भारत एक्सप्रेस और तेजस एक्सप्रेस जैसी आधुनिक ट्रेनों का मेंटनेंस किया जा सके।

लखनऊ से कानपुर के बीच 11 जोड़ी मेमू ट्रेनें दौड़ती हैं। उनका विस्तार अब बाराबंकी और कल्याणपुर तक हो गया है। साथ ही लखनऊ से सुलतानपुर और शाहजहांपुर भी मेमू के नेटवर्क से जुड़ चुके हैं। इन मेमू ट्रेनों को प्रारंभिक मेंटनेंस के लिए अब तक गाजियाबाद भेजना पड़ता था। लखनऊ से कानपुर होकर इन मेमू का रैक गाजियाबाद पहुंच जाता था। वहां मेंटनेंस के बाद वापस आने में 20 से 25 दिन का समय लग जाता था। ऐसे में मेमू के रैक की संख्या कम होने के कारण इनकी सेवाओं पर असर पड़ता था।

भीड़ वाले समय की अधिकतर मेमू ट्रेनों को निरस्त करना पड़ता था। कोरोना के बाद से इन मेमू ट्रेनों का संचालन बंद हो गया है। रेलवे ने मेमू के नए रैक को लाने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा है। वहीं मेमू के मेंटनेंस के लिए करीब 10 साल पहले मल्हौर में मेमू शेड बनाने की घोषणा रेल बजट में की गई थी। इस मेमू शेड का काम आज तक शुरू नहीं हो सका। वहीं, पिछले दिनों कानपुर में मेमू शेड बनने के बाद अब रेलवे मल्हौर में मिशन रफ्तार के लिए मेंटनेंस शेड बनाएगा। जहां केवल मिशन रफ्तार से जुड़ी ट्रेनों का मेंटनेंस किया जा सकेगा।

कानपुर में मेमू शेड बनने के बाद अब लखनऊ के मल्हौर में इसकी उपयोगिता नहीं है। रेलवे बोर्ड से मेमू के नए रैक मंगवाए गए हैं। लखनऊ कानपुर रेलखंड को मिशन रफ्तार से जोड़ने के लिए काम तेजी से चल रहा है। ऐसे में मल्हौर में अब मिशन रफ्तार का मेंटनेंस डिपो स्थापित किया जाएगा। -एसके सपरा, डीआरएम लखनऊ

Latest Posts

Don't Miss