Latest Posts

यूपी-बिहार में बढ़ रहा है मंकीपॉक्स वायरस का खतरा, शरीर में दिखे यह लक्षण तो ना करें नजरअंदाज

हमारे देश में कोविड-19 का प्रकोप अभी तक पूरी तरह से खत्म तो नहीं हुआ है लेकिन दूसरी तरफ एक नया वायरस पैर पसारने लगा है। मंकीपॉक्स वायरस का खतरा हमारे देश में लगातार बढ़ते जा रहा है वहीं दूसरी तरफ यूपी और बिहार में मंकीपॉक्स वायरस के कुछ मामले सामने आए हैं।

मंकीपॉक्स वायरस के मामले सामने आने के बाद यूपी सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है और कहा है कि अगर किसी भी तरह के मंकीपॉक्स से जुड़े लक्षण दिखे तो तुरंत उसकी जांच कराई जाए। वैज्ञानिकों की मानें तो यह वायरस कोविड-19 वायरस की तरह खतरनाक तो नहीं है।

लेकिन इस वायरस के होने से भी कई तरह के खतरा हो सकते हैं इसलिए जरूरी है कि इस वायरस के होने के बाद जरूर की जांच कराई जाए और इसके कोई भी लक्षण को नजरअंदाज नहीं की जाए।

आपको बता दें कि प्रशासनिक स्तर पर विपक्ष वायरस को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है और किसी भी तरह के खतरे जैसी स्थिति उत्पन्न होने पर तुरंत जांच का भी आदेश दिया गया है। यूपी सरकार ने ग्रामीण और शहरी हर क्षेत्र में जांच कराने का आदेश जारी किया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालयय के दिशानिर्देशों के मुताबिक कोई भी शख्स जिसने पिछले 21 दिनों में प्रभावित देशों का दौरा किया हो और उसे बुखार, सिरदर्द, शरीर में दर्द और कमजोरी जैसी शिकायत है तो उसे आइसोलेट कर उसकी जांच की जाए।

केंद्र सरकार का कहना है कि मंकीपॉक्स के नमूनों की जांच के लिए पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी में सैंपल भेजा जाएगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि समलैंगिक लोगों में मंकीपॉक्स वायरस का सबसे ज्यादा खतरा देखने को मिल रहा है।

Latest Posts

Don't Miss