होली के बाद एक बार फिर से महंगाई की मार पड़ने वाली है क्योंकि टमाटर के दामों में भारी वृद्धि होने वाली है। एक बार फिर से हरी सब्जियां आम जनता की कमर तोड़ने वाली है। इस साल मौसम की मार फसलों पर सबसे ज्यादा पड़ी जिसके बाद से हरी सब्जियां खराब हो गई।

टमाटर एक ऐसा सब्जी है जो कि सब्जी बनाने में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है। लेकिन टमाटर के दामों में भारी बढ़ोतरी होने वाली है और एक बार फिर से टमाटर आम जनता को रुलाने वाला है।

वैज्ञानिकों ने बताया परिवर्तन की वजह-

वैज्ञानिकों का मानना है कि जलवायु परिवर्तन के कारण पूरी दुनिया में सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी होगी। आम जनता के ऊपर सब्जियों की बढ़ी कीमतों का सीधा असर देखने को मिलेगा। दुनिया भर में सर्वाधिक प्रभाव कॉफी,बादाम और टमाटर की फसल पर पड़ रहा है। इटली यूरोप का सबसे बड़ा टमाटर उत्पादक है और वह हर साल औसतन 60 से 70 लाख मीट्रिक टन टमाटर की आपूर्ति करता है।

बता दें कि पिछले साल इटली में टमाटर की फसल में 29% की गिरावट दर्ज की गई थी। इसका सीधा असर बाजारों में देखने को मिलेगा और इस साल टमाटर के डाउन में रिकॉर्ड तोड़ बढ़ोतरी होगी। आपको बता दें कि इस साल उत्तर प्रदेश में भी बारिश अधिक होने के कारण फसल खराब हो गए थे। फसल खराब होने का सीधा असर टमाटर के फसलों पर देखने को मिल रहा है और इस साल टमाटर के दामों में उत्तर प्रदेश में काफी ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।