Latest Posts

Rapid Rail: रैपिड रेल की छह कोच पहुंची दुहाई डिपो,अगस्त से शुरू होगा ट्रेनों का ट्रायल, ट्रेनों में मिलेगी यह खास सुविधा

गुजरात के सावली प्लांट से 1 जून को ट्रेलर पर सवार होकर रैपिड रेल की छह कोच रविवार को दुहाई पहुंच गई है। बता दें कि दिल्ली से मेरठ के बीच भारत का पहला रैपिड रेल चलाया जाएगा। रैपिड रेल भारत का मिनी बुलेट ट्रेन कहलाएगा क्योंकि इसका स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा होगा।

इसके लिए ट्रैक बिछाने से लेकर बिजली के इंतजाम तक की तैयारियां कर ली गई हैं। ट्रायल तीन चरणों में होगा। इसके बाद मार्च 2023 में साहिबाबाद से दुहाई तक के प्राथमिकता खंड में लोग इसकी सफर कर सकेंगे।

फिलहाल सभी कोच ट्रेलर पर रखे हैं। ट्रेलर को ईस्टर्न पेरिफेरेल एक्सप्रेसवे की साइड में खड़ा किया गया है। आज सोमवार को ट्रेलर से कोच को उतार लिया गया है। आप इसे जोड़ा जाएगा और पर्दा उठाया जाएगा। रैपिड रेल के कोच गुजरात, राजस्थान, हरियाणा और यूपी के विभिन्न शहरों से होते हुए आए हैं।

यूपी में ईस्टर्न पेरिफेरल से गौतमबुद्धनगर होते हुए गाजियाबाद के दुहाई में पहुंचे है। सभी रैपिड रेल कोच को छह बड़े ट्रेलरों पर कड़ी सुरक्षा में लाया गया।

शताब्दी से अधिक सुविधाएं-

आपको बता दें कि रैपिड रेल के मॉडल कोच में यात्रियों को कई तरह की आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। छह कोच की ट्रेन में चार कोच स्टैंडर्ड श्रेणी, एक कोच महिला और एक कोच प्रीमियम क्लास का होगा। साल 2023 से ट्रेन में यात्री सफर कर पाएंगे। रैपिड रेल ट्रेन में शताब्दी ट्रेन से अधिक सुविधाएं मिलेगी।

Latest Posts

Don't Miss